Home » Quotations » Famous Hindi Quotes » Peter Drucker Quotes in Hindi पीटर ड्रकर के अनमोल विचार
पीटर ड्रकर के अनमोल विचार Peter Drucker Quotes in Hindi

Peter Drucker Quotes in Hindi पीटर ड्रकर के अनमोल विचार

पीटर ड्रकर के अनमोल विचार: (19 नवम्बर, 1909 – 11 नवम्बर, 2005) एक अमेरिकी प्रबन्धन सलाहकार, शिक्षक एवं लेखक थे। वे मूलतः आस्ट्रिया के निवासी थे। प्रबन्धन शिक्षा के विकास के क्षेत्र में उन्होने नेतृत्व किया। उन्होने ‘लक्ष्यों द्वारा प्रबन्धन’ (Management by objectives) नामक कांसेप्ट दिया। मैनेजमेंट गुरु पीटर ड्रकर को उनके प्रबंधन सम्बन्धी सिद्धांतों के लिए जाना जाता है। उनका प्रभाव इतना है कि उनकी लिखी किताबें पढ़े बिना कोई मार्केटिंग में MBA नहीं कर सकता है!

  • एक प्रबंधक ज्ञान के प्रयोग एवं प्रदर्शन के लिए उत्तरदायी है।
  • इस तथ्य को मानिए की हमें हर किसी को एक स्वयंसेवक के रूप में स्वीकार करना होगा।
  • व्यापार, इस आसानी से परिभाषित किया जा सकता है – ये दूसरों का पैसा है।
  • कंपनी की संस्कृति देश की संस्कृति की तरह होती है। कभी इस बदलने की कोशिश मत करो। बजाये इसके, जो तुम्हारे पास है उसी के साथ काम करने का प्रयास करो।
  • प्रभावी नेत्रित्व भाषण देने या पसंद किये जाने के बारे में नहीं है; नेत्रित्व परिणाम द्वारा परिभाषित होता है गुणों द्वारा नहीं।
  • दक्षता चीजों को सही करना है; प्रभावशीलता सही चीजों को करना है।
  • ज्ञान को लगातार सुधारना, चुनौती देना, और बढ़ाना होता है, नहीं तो वो गायब हो जाता है।
  • अच्छे निर्णय लेना हर स्तर पर एक महत्त्वपूर्ण कौशल है।
  • उद्देश्य के अनुसार प्रबंधन काम करता है – यदि आपको उद्देश्य पता हों। नब्बे प्रतिशत समय आपको ये पता नहीं होता।
  • प्रबंधन चीजों को सही से करना है; नेत्रित्व सही चीजें करना है।
  • ज्यादातर निर्णय लेने सम्बन्धी चर्चाओं में ये माना जाता है कि केवल वरिष्ठ अधिकारी निर्णय लेते हैं या उन्ही का निर्णय मायने रखता है। ये एक घातक भूल है।
  • अधिकतर चीजें जिन्हें हम प्रबंधन कहते हैं वो लोगों का काम ख़तम करना कठिन बनाती हैं।
  • एक परामर्शदाता के रूप में मेरी सबसे बड़ी ताकत है अनभिज्ञ होकर सवाल पूछना।
  • अपनी ख़ुशी की परवाह मत करो; अपना काम करो।
  • कोई संस्था संभवतः जीवित नहीं रह सकती अगर उसके प्रबंधन के लिए जीनियसों या सुपरमैनों की ज़रुरत पड़े। उसे इस तरह से व्यवस्थित किया जाना चाहिए कि औसत लोगों के नेत्रित्व में वो चल सके।
  • जो लोग खतरा नहीं उठाते वो आम तौर पर एक साल में लगभग दो बड़ी गलतियाँ करते हैं। जो लोग खतरा उठाते हैं वो आम तौर पर एक साल में लगभग दो बड़ी गलतियाँ करते हैं।
  • योजनाएं केवल अच्छे इरादे हैं जब तक की उन्हें तुरंत कड़ी मेहनत में ना बदला जाये।
  • रैंक आपको विशेषाधिकार या शक्ति नहीं देती। ये आपके ऊपर जिम्मेदारी डालती है।
  • मार्केटिंग का उद्देश्य ग्राहक को इतना जानना और समझना है कि उत्पाद या सेवा उसके उपयुक्त हो और अपने आप बिके।
  • भविष्य का अनुमान लगाने का सबसे सही तरीका है उसे बनाना।
  • कंप्यूटर एक मूर्ख है।
  • उद्द्यामी हमेशा बदलाव को खोजता है, उस पर प्रतिक्रिया करता है, और उसे एक अवसर के रूप में प्रयोग करता है।
  • संचार में सबसे महत्त्वपूर्ण है वो सुनना जो नहीं कहा जा रहा।
  • भविष्य के बारे में हम केवल ये जानते हैं कि वो अलग होगा।
  • कार्य की उत्पादकता कार्यकर्ता की नहीं प्रबंधक की जिम्मेदारी है।
  • एक व्यापार का उद्देश्य ग्राहक बनाना होता है।
  • समय सबसे दुर्लभ संसाधन है और जब तक इसे प्रबंधित नहीं किया जाये और कुछ भी प्रबंधित नहीं हो सकता।
  • जब कोई विषय बिलकुल ही बेमतलब हो जाता है तो हम उसे आवश्यक पाठ्यक्रम बना देते हैं।

Check Also

Ujda Chaman: Bollywood Family Comedy Drama

Ujda Chaman: Bollywood Family Comedy Drama

Movie Name: Ujda Chaman Movie Directed by: Abhishek Pathak Starring: Sunny Singh, Maanvi Gagroo, Saurabh Shukla, Karishma Sharma …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *