Napoleon Bonaparte Quotes in Hindi नेपोलियन बोनापार्ट के अनमोल विचार

Napoleon Bonaparte Quotes in Hindi नेपोलियन बोनापार्ट के अनमोल विचार

नेपोलियन बोनापार्ट (August 15, 1769 – May 5, 1821) फ्रान्स की क्रान्ति में सेनापति, ११ नवम्बर १७९९ से १८ मई १८०४ तक प्रथम कांसल के रूप में शासक और १८ मई १८०४ से ६ अप्रैल १८१४ तक नेपोलियन १ के नाम से सम्राट रहा। वह पुनः २० मार्च से २२ जून १८१५ में सम्राट बना। वह यूरोप के अन्य कई क्षेत्रों का भी शासक था।

इतिहास में नेपोलियन विश्व के सबसे महान सेनापतियों में गिना जाता है। उसने एक फ्रांस में एक नयी विधि संहिता लागू की जिसे नेपोलियन की संहिता कहा जाता है।

वह इतिहास के सबसे महान विजेताओं में से एक था। उसके सामने कोई रुक नहीं पा रहा था। जब तक कि उसने १८१२ में रूस पर आक्रमण नहीं किया, जहां सर्दी और वातावरण से उसकी सेना को बहुत क्षति पहुँची। १८ जून १८१५ वॉटरलू के युद्ध में पराजय के पश्चात अंग्रज़ों ने उसे अन्ध महासागर के दूर द्वीप सेंट हेलेना में बन्दी बना दिया। छः वर्षों के अन्त में वहाँ उसकी मृत्यु हो गई। इतिहासकारों के अनुसार अंग्रेज़ों ने उसे संखिया (आर्सीनिक) का विष देकर मार डाला।

  • संविधान छोटा और अस्पष्ट होना चाहिए।
  • एक लीडर आशा का व्यापारी होता है।
  • कोई व्यक्ति सिर्फ चाह कर नास्तिक नहीं बन सकता।
  • कोई व्यक्ति अपने अधिकारों से ज्यादा अपने हितों के लिए लडेगा।
  • एक तस्वीर हज़ार शब्दों के बराबर होती है।
  • एक सिपाही एक रंगीन रिबन के लिए दिलो जान से लडेगा।
  • एक सिंघासन महज मखमल से ढंकी एक बेंच है।
  • एक सच्चा आदमी किसी से नफरत नहीं करता।
  • अवसर के बिना काबिलियत कुछ भी नहीं है।
  • उनमे से जो अत्याचार नहीं पसंद करते, कई ऐसे होते हैं जो अत्याचारी होते हैं।
  • सारे धर्म इंसानों द्वारा बनाये गए हैं।
  • एक सेना अपने पेट के बल पर आगे बढती है।
  • मौत कुछ भी नहीं है, लेकिन हार कर और लज्जित होकर जीना रोज़ मरने के बराबर है।
  • अगली दुनिया में हम सेनापतियों से ज्यादा चिकित्सकों को लोगों की जिंदगियों के लिए जवाब देना होगा।
  • इंग्लैंड दुकानदारों का देश है।
  • हज़ार छूरों की तुलना में चार विरोधी अखबारों से अधिक डरना चाहिए।
  • जितनी मुझे फ्रांस की ज़रुरत नहीं है उससे ज्यादा फ्रांस को मेरी ज़रुरत है।
  • जिसे जीत लिए जाने का भय होता है उसकी हार निश्चित होती है।
  • वो जो प्रशंशा करना जानता है, अपमानित करना भी जानता है।
  • इतिहास सहमती से किया गया झूठ का संग्रह है।

Check Also

World Tourism Day

World Tourism Day Information For Students

Since 1980, the United Nations World Tourism Organization has celebrated World Tourism Day as international …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *