Home » Quotations » Famous Hindi Quotes » Friedrich Nietzsche Hindi Quotes जर्मन फिलॉस्फर फ्रेडरिक नीत्शे के अनमोल विचार
Friedrich Nietzsche Hindi Quotes जर्मन फिलॉस्फर फ्रेडरिक नीत्शे के अनमोल विचार

Friedrich Nietzsche Hindi Quotes जर्मन फिलॉस्फर फ्रेडरिक नीत्शे के अनमोल विचार

Friedrich Wilhelm Nietzsche (15 October 1844 – 25 August 1900) was a German philosopher, cultural critic, poet, philologist, Latin, and Greek scholar whose work has exerted a profound influence on Western philosophy and modern intellectual history. He began his career as a classical philologist before turning to philosophy. He became the youngest ever to hold the Chair of Classical Philology at the University of Basel in 1869, at the age of 24. Nietzsche resigned in 1879 due to health problems that plagued him most of his life, and he completed much of his core writing in the following decade. In 1889, at age 44, he suffered a collapse and a complete loss of his mental faculties. He lived his remaining years in the care of his mother (until her death in 1897), and then with his sister Elisabeth Förster-Nietzsche, and died in 1900.

  • संगीत के बिना, जीवन एक गलती होगी।
  • ये प्यार की कमी नहीं, बल्कि दोस्ती की कमी है जो शादियों को दुखदायी बनाती है।
  • जो हमें मारता नहीं है हमें मजबूत बनाता है।
  • मैं इसलिए दुखी नहीं हूँ कि तुमने मुझसे झूठ बोला, मैं इसलिए दुखी हूँ कि अब मैं तुम पर यकीन नहीं कर सकता।
  • और जो लोग डांस करते देखे गए उन्हें जो म्यूजिक नहीं सुन सकते थे उनके द्वारा पागल समझा गया।
  • बिना अपने ओपिनियंस के रीज़न को याद रखे अपने ओपिनियंस को याद रखना बेहद कठिन है।
  • प्यार में हमेशा कुछ पागलपन होता है। लेकिन पागलपन में हमेशा कोई कारण होता है।
  • जो कोई भी राक्षसों से लड़ता है उसे ध्यान रखना चाहिए कि इस प्रक्रिया में कहीं वो खुद ही राक्षस ना बन जाए । और अगर आप लम्बे समय तक खायी को घूरते हैं तो खायी भी आपको घूरने लगेगी।
  • आपका अपना रास्ता है। मेरा अपना रास्ता है। जहाँ तक सही रास्ते, उचित रास्ते, और एक ही रास्ते की बात है, वो एक्सिस्ट नहीं करता।
  • स्वर्ग में, सारे इंट्रस्टिंग लोग मिसिंग हैं।
  • कभी-कभी लोग इसलिए सच नहीं सुनना चाहते क्योंकि वे अपने भ्रम को टूटने नहीं देना चाहते।
  • कोई तथ्य नहीं हैं, केवल व्याख्याएं हैं।
  • हमे हर उस दिन को खोया हुआ समझना चाहिए जिस दिन हमने एक बार भी डांस ना किया हो।
  • ज्ञानी व्यक्ति को सिर्फ अपने दुश्मनों से प्रेम ही नहीं बल्कि अपने दोस्तों से नफरत भी करने में सक्षम होना चाहिए।
  • मैं उस ईश्वर में यकीन नहीं का सकता जो हमेशा प्रशंसा सुनना चाहता हो।
  • वो जिसके पास जीने का कारण है कुछ भी सहन कर सकता है।
  • कोई भी आपके लिए उस पुल का निर्माण नही कर सकता है जिसपे चढ़ कर आप जीवन की धारा को पार कर सकें, कोई नहीं बस आप अकेले ऐसा कर सकते हैं।
  • जब हम थक जाते हैं, तब हम उन विचारों द्वारा अटैक किये जाते हैं जिन्हें हम बहुत पहले जीत चुके होते हैं।
  • वो सांप जो अपना केंचुल नहीं छोड़ सकता उसे मरना होता है। उसी तरह जो माइंड अपने ओपिनियनस नहीं बदल सकते; वे माइंड नहीं रह जाते।
  • बुरी यादाश्त का ये फायदा है कि कोई एक ही अच्छी चीज का बार-बार पहली बार आनंद उठाता है।

Check Also

अंशु की बा: कस्तूरबा गांधी के जीवन से प्रेरित कहानी

अंशु की बा: कस्तूरबा गांधी के जीवन से प्रेरित कहानी

“मुझे तो समझ ही नहीं आता कि तुम इतनी दब्बू क्यों हो?” मनीषा ने गुस्से …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *