ठंडे ठंडे पानी से नहाना चाहिए: आनंद बक्षी

ठंडे ठंडे पानी से नहाना चाहिए Father’s Day Funny Hindi Song

ठंडे ठंडे पानी से नहाना चाहिए: आनंद बक्षी

ठंडे ठंडे पानी से नहाना चाहिए
गाना आये या ना आये गाना चाहिए

बेटा बजाओ ताली
गाते हैं हम कव्वाली
बजने दो एक तारा
छोड़ो ज़रा फव्वारा
ये बाल्टी उठाओ
ढोलक इसे बनाओ
बैठे हो क्या ये लेकर
ये घर है या है थिएटर
पिक्चर नहीं है जाना
बाहर नहीं है आना
ओ हो मम्मी को भी अंदर बुलाना चाहिए
तेरी मम्मी को भी अंदर बुलाना चाहिए
गाना आये या ना आये…

तुम मेरी हथकड़ी हो
तुम दूर क्यों खड़ी हो
तुम भी जरा नहा लो
दो चार गीत गा लो
अब शोर मत करो जी
सुनते है सब पड़ोसी
कह दो पड़ोसियों से
झांके न खिड़कियों से
दरवाज़ा खटकटाया
लगता है कोई आया
कह दो के आ रहे हैं
साहब नहा रहे हैं
ओ हो मम्मी को तो लड़ने का बहाना चाहिए
चुप बे शैतान
मम्मी को तो लड़ने का बहाना चाहिए
गाना आये या ना आये…

ए ए ए ए ए ओ ओ ओ ओ ओ
लम्बी ये तान छोड़ छोड़ो
तौबा है जान छोड़ो
तुम ऐसे बेशरम हो
बच्चों से कोई कम हो
छोड़ो हटो अनारी
मेरी भीगो दी साड़ी
ओ हो मम्मी को तो डैडी से छुड़ाना चाहिए
अब तो मम्मी को डैडी से छुड़ाना चाहिए
गाना आये या ना आये…

मित्रा ठंडे ठंडे पानी से नहाना चाहिए
गाना आये या ना आये गाना चाहिए

आनंद बक्षी

चित्रपट : पति पत्नी और वो (१९७८)
निर्माता, निर्देशक : बी. आर. चोपड़ा
लेखक : कमलेश्वर
गीतकार : आनंद बक्षी
संगीतकार : रविन्द्र जैन
गायक : महेंद्र कपूर, सुषमा श्रेष्ठ, आशा भोंसले
सितारे : संजीव कुमार, विद्या सिन्हा, रंजीता, असरानी

Film Summary:

Adam & Eve live a worry-free life in paradise. They are instructed not to eat an apple. One day they cannot resist the temptation, and both take a bite out of it. Nature takes offense and expels them from heaven. They are forced to live on Earth as ordinary human beings – together with the apple that has followed them. Now Adam is called Ranjeet Chaddha, a Sales Manager, and Eve is called Sharda. Both meet, fall in love, and get married. Both live in perfect harmony and soon become parents of a baby boy. Then one day Sharda sees signs of a lipstick on her husband’s kerchief, when she questions, he clarifies and Sharda is satisfied with his explanation. What Sharda does not know that Ranjeet is carrying on with his pretty Secretary, Nirmala Deshpande, who he has convinced that his wife is seriously ill, is dying, and will marry her after her passing. Watch how hilarious events unfold and prove that Ranjeet is a liar and a two-timer, watch him repent… but hold it! Not for long!

Check Also

Football - Fred Babbin

Football Poem For Students And Children

A football is a ball inflated with air that is used to play one of …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *