साँप – धनंजय सिंह

अब तो सड़कों पर उठाकर फन
चला करते हैं साँप
सारी गलियां साफ हैं
कितना भला करते हैं साँप।

मार कर फुफकार
कहते हैं ‘समर्थन दो हमें’
तय दिलों की दूरियों का
फासला करते हैं साँप।

मैं भला चुप क्यों न रहता
मुझको तो मालूम था
नेवलों के भाग्य का अब
फैसला करते हैं साँप।

डर के अपने बाजुओं को
लोग कटवाने लगे
सुन लिया है, आस्तीनों में
पला करते हैं साँप।

— धनंजय सिंह

Check Also

Anandpur Sahib: Takht Sri Keshgarh Sahib Gurudwara

Anandpur Sahib: Takht Sri Keshgarh Sahib Gurudwara

Anandpur sahib is a city and a municipal council in Rupnagar district, Punjab, India. Takht …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *