पापा कहते हैं बड़ा नाम करेगा: मजरूह सुल्तानपुरी

पापा कहते हैं बड़ा नाम करेगा Father’s Day Special Bollywood Song

पापा कहते हैं बड़ा नाम करेगा: मजरूह सुल्तानपुरी

पापा कहते हैं बड़ा नाम करेगा
बेटा हमारा ऐसा काम करेगा
मगर ये तो, कोई ना जाने
के मेरी मंज़िल, है कहाँ…

बैठे हैं मिलके, सब यार अपने
सबके दिलों में, अरमां ये है
वो ज़िन्दगी में, कल क्या बनेगा
हर इक नजर का, सपना ये है
कोई इंजीनियर का काम करेगा
बिज़नेस में कोई अपना नाम करेगा, मगर ये तो…

मेरा तो सपना, है एक चेहरा
देखे जो उसको, झूमे बहार
गालों में खिलती, कलियों का मौसम
आँखों में जादू, होठों में प्यार
बन्दा ये खूबसूरत काम करेगा
दिल की दुनिया में अपना नाम करेगा, मगर ये तो…

∼ मजरूह सुल्तानपुरी

मजरूह सुल्तानपुरी ने पचास से ज्यादा सालों तक हिंदी फिल्मों के लिए गीत लिखे। आजादी मिलने से दो साल पहले वे एक मुशायरे में हिस्सा लेने बम्बई गए थे और तब उस समय के मशहूर फिल्म-निर्माता कारदार ने उन्हें अपनी नई फिल्म शाहजहां के लिए गीत लिखने का अवसर दिया था। उनका चुनाव एक प्रतियोगिता के द्वारा किया गया था। इस फिल्म के गीत प्रसिद्ध गायक कुंदन लाल सहगल ने गाए थे। ये गीत थे-ग़म दिए मुस्तकिल और जब दिल ही टूट गया जो आज भी बहुत लोकप्रिय हैं। इनके संगीतकार नौशाद थे।

जिन फिल्मों के लिए आपने गीत लिखे उनमें से कुछ के नाम हैं – सी.आई.डी., चलती का नाम गाड़ी, नौ-दो ग्यारह, तीसरी मंज़िल, पेइंग गेस्ट, काला पानी, तुम सा नहीं देखा, दिल देके देखो, दिल्ली का ठग इत्यादि। पंडित नेहरू की नीतियों के खिलाफ एक जोशीली कविता लिखने के कारण मजरूह सुल्तानपुरी को सवा साल जेल में रहना पड़ा। 1994 में उन्हें फिल्म जगत के सर्वोच्च सम्मान दादा साहब फाल्के पुरस्कार से सम्मानित किया गया। इससे पूर्व 1980 में उन्हें ग़ालिब एवार्ड और 1992 में इकबाल एवार्ड प्राप्त हुए थे।

चित्रपट: क़यामत से क़यामत तक (१९८८)
निर्माता: नासिर हुसैन
निर्देशक: मंसूर खान
लेखक: नासिर हुसैन
गीतकार: मजरूह सुल्तानपुरी
संगीतकार: आनंद – मिलिंद
गायक: उदित नारायण
सितारे: आमिर खान, जूही चावला

Qayamat Se Qayamat Tak or QSQT (From Disaster to Disaster) is a 1988 Indian Bollywood film written by Nasir Hussain and directed by his son Mansoor Khan. The film starred Hussain’s nephew, Aamir Khan, along with Juhi Chawla in their first major roles. Upon release, the film became a box office hit and shot its leading stars to fame overnight. The film was also the first major hit for the music-director duo of Anand-Milind and singers Udit Narayan and Alka Yagnik.

Qayamat Se Qayamat Tak’s music, romantic storyline (based on “Romeo and Juliet”), and young actors shifted the momentum away from the violent and aging ethos that were prevalent in the films at the time. It also made melodious tunes once again popular over the 80’s trend of disco and breakdance influenced soundtracks. India Times Movies ranks the movie amongst the Top 25 Must See Bollywood Films.

Check Also

Durga Puja of the Bengalis - Sonnet Mondal

Durga Puja of Bengalis: Sonnet Mondal

Durga Puja of Bengalis: Durga Puja is one of the most famous festivals celebrated in …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *