Home » Poems For Kids » Poems In Hindi » मेरी बिल्ली काली पीली

मेरी बिल्ली काली पीली

Meri Billi Kaali Peeliमेरी बिल्ली काली पीली,
पानी में हो गयी वो गीली।

गीली होकर लगी कांपने,
ऑछी-ऑछी लगी छींकने।

मैं फिर बोली कुछ तो सीख,
बिना रुमाल के कभी ना छींक।

Check Also

बाला की दिवाली: गरीबों की सूनी दिवाली की कहानी

बाला की दिवाली: गरीबों की सूनी दिवाली की कहानी

“माँ… पटाखे लेने है मुझे” बाला ने दिवार के कोने में बैठे हुए कहा। “कहाँ …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *