माँ तो माँ होती है - ओम प्रकाश बजाज

माँ तो माँ होती है Mother’s Day Hindi Poem

मम्मी – अम्मी – अम्मा – माता – माम्,
कुछ भी बुलाओ माँ तो माँ होती है।

अपने बच्चों पर जान देती है,
उनके लिए हर कष्ट सहती है।

अपनी कोख से जन्म देती है,
उन पर वारी – वारी जाती है।

पाल पोस कर बड़ा करती है,
गीले में सो कर सूखे में सुलाती है।

माँ का आदर सदा करना,
माँ का कहना हमेशा मानना।

माँ का दिल न कभी दुखाना,
माँ की आँख में आंसू न लाना।

ओम प्रकाश बजाज

Check Also

Chant To Netaji Subhas Chandra Bose - An Inspirational Poetry

Chant To Netaji Subhas Chandra Bose: Ratan Bhattacharjee

Subhas Chandra Bose was a most famous legendary figure and brave freedom fighter in the …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *