Home » Poems For Kids » Poems In Hindi » इन्साफ़ की डगर पे: शकील बदायूंनी
Shakeel Badayuni Inspirational Teacher's Day Song इन्साफ़ की डगर पे

इन्साफ़ की डगर पे: शकील बदायूंनी

इन्साफ़ की डगर पे, बच्चों दिखाओ चल के
ये देश है तुम्हारा, नेता तुम्हीं हो कल के

दुनिया के रंज सहना और कुछ न मुँह से कहना
सच्चाइयों के बल पे आगे को बढ़ते रहना
रख दोगे एक दिन तुम संसार को बदल के
इन्साफ़ की डगर पे, बच्चों दिखाओ चल के
ये देश है तुम्हारा, नेता तुम्हीं हो कल के

Sincere Student

अपने हों या पराए सबके लिये हो न्याय
देखो कदम तुम्हारा हरगिज़ न डगमगाए
रस्ते बड़े कठिन हैं चलना सम्भल-सम्भल के
इन्साफ़ की डगर पे, बच्चों दिखाओ चल के
ये देश है तुम्हारा, नेता तुम्हीं हो कल के

इन्सानियत के सर पर इज़्ज़त का ताज रखना
तन मन भी भेंट देकर भारत की लाज रखना
जीवन नया मिलेगा अंतिम चिता में जल के,
इन्साफ़ की डगर पे, बच्चों दिखाओ चल के
ये देश है तुम्हारा, नेता तुम्हीं हो कल के

शकील बदायूंनी

चित्रपट : गंगा जमुना (१९६१)
गीतकार : शकील बदायूंनी
संगीतकार : नौशाद
गायक : हेमंत कुमार
सितारे : दिलीप कुमार, वैजन्ती माला, नासिर खान, अज़रा, लीला चिटनीस, कन्हैया लाल, अनवर हुसैन, नज़ीर हुसैन, हेलेन

Check Also

Janmashtami, Lord Krishna's Birthday - Hindu Festival

Janmashtami: Lord Krishna Birthday Festival

Janmashtami — On the eighth day of the black half of Bhadra (August – September) was …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *