ध्यान रखेंगे – दिविक रमेश

Sick Catमेरी बिल्ली आंछी-आंछी,
अरे हो गया उसे जुकाम।

जा चूहे ललचा मत जी को,
करने दो उसको आराम।

दूध नहीं अब चाय चलेगी,
थोड़ा हलुवा और दवाई।

लग ना जाए आंछी हमको,
ध्यान रखेंगे अपना भाई।

∼ डॉ. दिविक रमेश

Check Also

पापा के लिए तोहफा: फादर्स डे स्पेशल बाल-कहानी

पापा के लिए तोहफा: फादर्स डे स्पेशल बाल-कहानी

“कल तुम सब मेरे घर आना। हम लोग समोसा खाएंगे और क्रिकेट खेलेंगे” रोमी ने …