डाल पर बन्दर

Daal Par Bandarबैठा था एक डाल पर बन्दर
भीग रहा पानी के अंदर।

थर-थर थर-थर काँप रहा था,
ऑछी-ऑछी रहा था।

चिड़िया बोली बन्दर मामा,
कहा नहीं क्यों तुमने माना ?
ऑछी-ऑछी छींक रहे हो

सुन मामा को गुस्सा आया,
चिड़िया का घर तोड़ गिराया।

चूँ-चूँ चूँ-चूँ चिड़िया रोई,
बैठ डाल पर वो भी सोई।

Check Also

पापा के लिए तोहफा: फादर्स डे स्पेशल बाल-कहानी

पापा के लिए तोहफा: फादर्स डे स्पेशल बाल-कहानी

“कल तुम सब मेरे घर आना। हम लोग समोसा खाएंगे और क्रिकेट खेलेंगे” रोमी ने …