Anand Bakshi Heart Rendering Desh Prem Geet चिट्ठी आई है

चिट्ठी आई है: Anand Bakshi Heart Rendering Desh Prem Geet

चिट्ठी आई है: आनंद बक्षी का दिल को छु लेने वाला फ़िल्मी गीत

चिट्ठी आई है आयी है, चिट्ठी आयी है,
चिट्ठी आई है, वतन से चिट्ठी आयी है,
बड़े दिनों के बात, हम बे-वतनों को याद,
वतन की मिट्टी आयी है…

उपर मेरा नाम लिखा है, अंदर ये पैगाम लिखा है,
ओ परदेस को जानेवाले, लौट के फिर ना आने वाले,
सात समुंदर पार गया तू, हम को ज़िंदा मार गया तू,
खून के रिश्ते तोड़ गया तू, आँख में आँसू छोड़ गया तू,
कम खाते है, कम सोते है, बहोत ज़्यादा हम रोते हैं,
चिट्ठी आयी है…

सुनी हो गयी शहर की गलियाँ, काँटे बन गयी बाग की कलियाँ,
कहते हैं सावन के झूले, भूल गया तू हम नहीं भूले,
तेरे बिन जब आयी दीवाली, दीप नहीं दिल जले है खाली,
तेरे बिन जब आयी होली, पिचकारी से छुटी गोली,
पीपल सुना, पनघट सुना, घर शमशान का बना नमूना,
फसल कटी, आयी बैसाखी, तेरा आना रह गया बाकी,
चिट्ठी आयी है…

पहले जब तू खत लिखता था, कागज में चेहरा दिखता था,
बंद हुआ ये मेल भी अब तो, ख़त्म हुआ ये खेल भी अब तो,
डोली में जब बैठी बहना, रास्ता देख रहे थे नैना,
मैं तो बाप हूँ मेरा क्या है, तेरी माँ का हाल बुरा है,
तेरी बीवी करती है सेवा, सूरत से लगती है बेवा,
तू ने पैसा बहोत कमाया, इस पैसे ने देस छुड़ाया,
देस पराया छोड़ के आजा, पंछी पिंजरा तोड़ के आजा,
आजा उम्र बहोत है छोटी, अपने घर में भी है रोटी,
चिट्ठी आयी है…

∼ चिट्ठी आई है filmi song by ‘आनंद बक्षी’

चित्रपट : नाम (1986)
गीतकार : आनंद बक्षी
संगीतकार : लक्ष्मीकांत प्यारेलाल
गायक : पंकज उधास
सितारे : संजय दत्त, कुमार गौरव

आनंद बख्शी (21 जुलाई 1930 — 30 मार्च 2002) लोकप्रिय भारतीय कवि और फ़िल्मी गीतकार थे। ब्रिटिश भारत के पंजाब प्रांत के रावलपिंडी (अब पाकिस्तान में है) में इनका जन्म हुआ था। 1947 में बटवारे में परिवार लखनऊ आ बसा।

Check Also

ऐ मेरे वतन के लोगों - कवि प्रदीप

ऐ मेरे वतन के लोगों: कवि प्रदीप का लोकप्रिय देशभक्ति गीत

यूं तो भारतीय सिनेमा जगत में वीरों को श्रद्धांजलि देने के लिये अब तक न …