सुशांत सिंह राजपूत केस: सुशांत की डायरी के 4 पन्ने गायब

सुशांत सिंह राजपूत केस: उस रात नहीं थी कोई पार्टी

सुशांत की मौत से पहली वाली रात जल्दी बंद हो गई थी घर की लाइट, ऐसा पहले कभी नहीं हुआ, नहीं थी कोई पार्टी: पड़ोसी का खुलासा

बांद्रा में जिस किराए के मकान में सुशांत सिंह राजपूत का 14 जून को शव लटका हुआ मिला था, वहाँ पर पड़ोसी ने बड़ा खुलासा किया है। उन्होंने कहा कि 13 जून की रात करीब 10.30-10.45 के बीच सुशांत राजपूत के कमरे की सभी लाइट्स बंद हो गई थी। सिर्फ किचन की लाइट जल रही थी।

एक्टर सुशांत सिंह राजपूत की मुंबई के बांद्रा स्थित फ्लैट में हुई मौत इस वक्त लोगों के सामने एक पहेली बनी हुई है। इस मामले में केन्द्रीय जाँच एजेंसी सीबीआई की तरफ से बारीकी से की जा रही पूछताछ और हो रहे नए-नए खुलासों ने शक को और गहरा दिया है कि किसी चीज को छिपाने की कोशिश लगातार की जा रही है।

बांद्रा में जिस किराए के मकान में सुशांत सिंह राजपूत का 14 जून को शव लटका हुआ मिला था, वहाँ पर पड़ोसी ने बड़ा खुलासा किया है। उन्होंने कहा कि 13 जून की रात करीब 10.30-10.45 के बीच सुशांत राजपूत के कमरे की सभी लाइट्स बंद हो गई थी। सिर्फ किचन की लाइट जल रही थी।

सुशांत की बिल्‍ड‍िंग में रहने वाली उनकी पड़ोसी महिला पहली बार शनिवार (अगस्त 22, 2020) को मीडिया के सामने आई। उन्‍होंने कहा, “सुशांत के घर की लाइट 13 जून की रात को 10.30-10.45 बजे अचानक बंद हो गई थी। ऐसा अमूमन नहीं होता था, क्‍योंकि वह देर तक जागते थे। लेकिन उस दिन किचन की लाइट को छोड़कर बाकी सारी लाइट्स जल्‍दी बंद हो गई थीं।”

इतना ही नहीं, लगातार यह कहा जा रहा था कि सुशांत की जिस दिन मौत हुई उससे पहली वाली रात को घर में पार्टी हुई थी। लेकिन पड़ोसी ने इस बात को भी खारिज कर दिया। सुशांत की पड़ोसी ने बताया कि उस रात सुशांत सिंह के घर में किसी तरह की कोई पार्टी नहीं हुई थी। महिला का कहना है कि लाइट्स का बंद होना जरूर मामले में संदेह पैदा करता है कि ऐसा क्‍यों हुआ था।

सुशांत के फ्लैट पर क्राइम सीन तैयार करने पहुँची सीबीआई

इस बीच सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले की जाँच कर रही सीबीआई की टीम फोरेंसिक विशेषज्ञों के साथ शनिवार की दोपहर को अभिनेता के बांद्रा स्थित फ्लैट पर पहुँची। एक अधिकारी ने बताया कि राजपूत के फ्लैट में सीबीआई की टीम फोरेंसिक विशेषज्ञों के साथ मिल कर वारदात की क्राइम सीन तैयार करेगी, जहाँ वह 14 जून को लटकते पाए गए थे।

केंद्रीय एजेंसी की टीम और फोरेंसिक विशेषज्ञ दोपहर ढाई बजे मों ब्लां अपार्टमेंट पहुँचे। अधिकारी ने बताया, ”वे घटना की उन कड़ियों को जोड़ने के लिए फ्लैट में पहुँचे जिनके कारण अभिनेता की मौत हुई थी।” सीबीआई के अधिकारी और केंद्रीय फोरेंसिक विज्ञान प्रयोगशाला (सीएफएसएल) के विशेषज्ञ सात से अधिक वाहनों में उनके आवास पर पहुँचे।

अधिकारी ने कहा, ”राजपूत के रसोइया नीरज और फ्लैट में उनके साथ रहने वाले सिद्धार्थ पिठानी भी सीबीआई की टीम के साथ थे।” अधिकारी के मुताबिक सीबीआई के अधिकारियों ने सांता क्रूज में आईएएफ के अतिथि गृह में पिठानी के बयान दर्ज किए। इसी स्थान पर केंद्रीय एजेंसी के सदस्य ठहरे हुए हैं। केंद्रीय एजेंसी ने शुक्रवार को नीरज से पूछताछ की।

एक अन्य अधिकारी ने बताया कि सीबीआई की एक दूसरी टीम ने शनिवार को कूपर अस्पताल का दौरा किया जहाँ दिवंगत अभिनेता का पोस्टमार्टम हुआ था। उन्होंने कहा कि टीम ने कूपर अस्पताल के डीन से मुलाकात की थी। उन्होंने कहा कि अधिकारी उन चिकित्सकों से भी मिलेंगे जिन्होंने पोस्टमार्टम किया था।

Check Also

फ्रांस ने बिल्डिंग पर दिखाए पैगंबर मोहम्मद के कार्टून

फ्रांस ने बिल्डिंग पर दिखाए पैगंबर मोहम्मद के कार्टून

पैगंबर मोहम्मद के ढेर सारे कार्टून… वो भी सरकारी बिल्डिंग पर: फ्रांस में टीचर के …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *