Home » Religions in India

Religions in India

Jama Masjid New Delhi: Biggest Mosque in India

Jama Masjid, New Delhi

Colossal, surreal and beautiful, the mighty edifice of Jama Masjid is impressive enough to make you sit up and take notice of this sprawling edifice. The last architectural venture of Mughal Emperor Shah Jahan, Jama Masjid holds the reputation of being the biggest mosque in India. Located in Delhi, besides the famous Red Fort, Jama Masjid derives its name from …

Read More »

रावण का बुत, पायल शहर, पंजाब

Ravana Statue, Payal Town, Ludhiana, Punjab रावण का बुत, पायल शहर, पंजाब

बुराई पर अच्छाई की जीत के प्रतीक दशहरे के अवसर पर चार वेदों के ज्ञाता तथा छ: शास्त्रों के ध्याता लंकेश रावण के पुतले बना कर देश के कोने-कोने में दशहरे पर अग्रि भेंट किए जाते हैं परन्तु पंजाब के पायल शहर में दशकों पुराना ‘रावण का बुत‘ स्थापित है जिसकी आज भी पूजा की जाती है। इस दिन दस …

Read More »

Hinduism Information For Students And Children

Akshaya Tritiya Rituals: Hindu - Jain Culture & Traditions

Hinduism – India is a land of religions, saints, rivers and holy places. There is probably more diversity of religion and sects in India then anywhere else on the earth. Sacred India India is a land of religions, saints, rivers and holy places. There is probably more diversity of religion and sects in India then anywhere else on the earth. …

Read More »

Sikhism Information For Students And Children

Sikh Gurus

Sikhism, or known in Punjabi as Sikhi, is a monotheistic religion founded during the 15th century in the Punjab region of the Indian subcontinent, by Guru Nanak and continued to progress through the ten successive Sikh Gurus (the eleventh and last guru being the holy scripture Guru Granth Sahib. The Guru Granth Sahib is a collection of the Sikh Guru’s …

Read More »

मच्छी माता मंदिर, मगोद डुंगरी गांव, वलसाड तहसील, गुजरात

Macchi Mata Mandir, Magod Dungri, Valsad, Gujarat मच्छी माता मंदिर

भारत में एक ऐसा मंदिर है जहां पर व्हेल मछली की हड्डियों का पूजन होता है। गुजरात में वलसाड तहसील के मगोद डुंगरी गांव में ‘मत्स्य माताजी’ का मंदिर स्थित है। लगभग 300 वर्ष पुराने इस मंदिर का निर्माण मछुआरों ने किया था। समुद्र में जाने से पूर्व वे इस मंदिर में माथा टेककर माता का आशीर्वाद लेते थे। प्राचीन …

Read More »

करणी माता मंदिर, देशनोक, बीकानेर

Karni Mata Temple of Rats, Deshnoke, Bikaner करणी माता मंदिर

घर में एक चूहा देखने पर भी हम विचलित हो उठते हैं। चूहों से प्लेग नामक रोग फैलता है जिसके कारण लोग उन्हें अपने घरों से भगा देते हैं। लेकिन भारत में माता का एक ऐसा मंदिर है जहां लगभग 20,000 चूहे हैं अौर उनके द्वारा झूठा किया प्रसाद भक्तों को दिया जाता है। हैरानीजनक बात यह है कि मंदिर …

Read More »

मायादेवी मंदिर, हरिद्वार, उत्तराखंड

मायादेवी मंदिर, हरिद्वार Maya Devi Temple, Haridwar

हरिद्वार को मायापुरी नाम से भी पुकारा जाता है। इसका कारण यह है कि यहां भगवती मायादेवी का मंदिर स्थित है। मायादेवी भगवती सती का ही एक स्वरूप हैं जिन्होंने अपने पिता दक्ष प्रजापति द्वारा किए गए यज्ञ में खुद सहित भगवान शिव को न बुलाए जाने पर यज्ञाग्रि द्वारा देहोत्सर्ग कर दिया था: विश्वोद्भवस्थिति लयदिषु हेतु मेकं, गौरीपति विदित …

Read More »

श्री त्रिपुर मां बाला सुंदरी मंदिर, देवबंद, उत्तर प्रदेश

Shri Bala Sundri Devi Mata Temple, Deoband श्री त्रिपुर मां बाला सुंदरी मंदिर, देवबंद, उत्तर प्रदेश

सहारनपुर जनपद मुख्यालय से 46 किलोमीटर दूर स्थित देवबंद नगर में माता दुर्गा के मां राजेश्वरी त्रिपुर बाला सुंदरी स्वरूप की पूजा की जाती है। हर साल यहां चैत्र मास की चतुर्दशी पर मेला लगता है। मेले में देश के कोने-कोने से लाखों भक्त मां के दर्शनों हेतु आते हैं। यहां मेला 15 दिनों तक चलता है। मां बाला सुंदरी …

Read More »

श्री त्रिमूर्ति धाम मंदिर, कालका, हरियाणा

श्री त्रिमूर्ति धाम मंदिर, कालका, हरियाणा

शिवालिक पहाडिय़ों पर स्थित कालका में चंडीगढ़-शिमला राष्ट्रीय राजमार्ग पर मां काली का मंदिर है। इसके पूर्व में मुकुटमणि के रूप में त्रिमूर्ति धाम है। यह पुरातन हिंदू देव स्थान है। यहां एक शिला पर तीन देव-हनुमान जी, प्रेतराज सरकार एवं भैरव एक साथ हैं जो बालाजी हनुमान या त्रिमूर्ति धाम के नाम से विख्यात है। 1988 से पहले यह …

Read More »

मोढ़ेरा सूर्य मंदिर, गुजरात Modhera Sun Temple, Gujarat

मोढ़ेरा सूर्य मंदिर, अहमदाबाद Modhera Sun Temple, Gujarat

मोढ़ेरा का विश्व प्रसिद्ध सूर्य मंदिर, अहमदाबाद से तकरीबन सौ किलोमीटर की दूरी पर पुष्पावती नदी के तट पर स्थित है। माना जाता है कि इस मंदिर का निर्माण सम्राट भीमदेव सोलंकी प्रथम (ईसा पूर्व 1022-1063 में) ने करवाया था। इस आशय की पुष्टि एक शिलालेख करता है जो मंदिर के गर्भगृह की दीवार पर लगा है, जिसमें लिखा गया …

Read More »