Home » Shakeel Badayuni

Shakeel Badayuni

शकील बदायूँनी (जन्म: 03 अगस्त 1916 - निधन: 20 अप्रैल 1970) - शकील बदायूनी का जन्म स्थान उत्तर प्रदेश का शहर बदायूँ है। यह एक उर्दू के शायर और साहित्यकार थे। लैकिन इन्होंने बालीवुड में गीत रचनाकार के रूप में नाम कमाया।

इन्साफ़ की डगर पे बच्चों दिखाओ चल के: शकील बदायूंनी

Shakeel Badayuni Inspirational Teacher's Day Song इन्साफ़ की डगर पे

आसान अल्‍फाज के जरिए सीधे दिल में उतरने वाले मशहूर शायर और गीतकार शकील बदायूंनी के बगैर रूमानी फिल्‍मों की कहानियां अधूरी हैं। मगर, मकबूल शायर होने के बावजूद उन्‍हें वह जगह नहीं मिली जिसके वह हकदार थे। ‘मुगल-ए-आजम’ और ‘मदर इंडिया‘ जैसी कालजयी फिल्‍मों और ‘मेरे महबूब’, ‘गंगा-जमुना’ और ‘घराना’ जैसी अपने दौर की सुपरहिट फिल्‍मों को अपने नग्‍मों …

Read More »

अपनी आज़ादी को हम हरगीज मिटा सकते नहीं: शकील बदायूँनी

शकील बदायूँनी (जन्म: 03 अगस्त, 1916 – निधन: 20 अप्रैल, 1970) – शकील बदायूनी का जन्म स्थान उत्तर प्रदेश का शहर बदायूँ है। यह एक उर्दू के शायर और साहित्यकार थे। लेकिन इन्होंने बालीवुड में गीत रचनाकार के रूप में नाम कमाया। अपनी आज़ादी को हम हरगीज मिटा सकते नहीं: शकील बदायूँनी अपनी आज़ादी को हम हरगीज मिटा सकते नहीं …

Read More »

नन्हा मुन्ना राही हूँ: शकील बदायूंनी

नन्हा मुन्ना राही हूँ: शकील बदायूंनी

नन्हा मुन्ना राही हूँ, देश का सिपाही हूँ बोलो मेरे संग जय हिंद जय हिंद जय हिंद… रस्ते पे चलूँगा न डर डर के, चाहे मुझे जीना पड़े मर मर के, मंजिल से पहले न लूँगा कभी दम, आगे ही आगे बढ़ाऊंगा कदम, दाहिने बाएं दाहिने बाएं, थम। नन्हा मुन्ना राही हूँ, देश का सिपाही हूँ, बोलो मेरे संग जय हिंद …

Read More »

होली आयी रे कन्हाई – शकील बदायूंनी

होली आयी रे कन्हाई - शकील बदायूंनी

होली आयी रे कन्हाई, होली आयी रे होली आयी रे कन्हाई रंग छलके सुना दे ज़रा बांसरी होली आयी रे, आयी रे, होली आयी रे बरसे गुलाल रंग मोरे अंगनवा अपने ही रंग में रंग दे मोहे सजनवा हो देखो नाचे मोरा मनवा तोरे कारन घर से आई हूँ निकल के सुना दे ज़रा बांसरी होली आयी रे, आयी रे, …

Read More »