Shailendra Kesarilal

शंकरदास केसरीलाल शैलेन्द्र (१९२३-१९६६) हिन्दी के एक प्रमुख गीतकार थे। जन्म रावलपिंडी में और देहान्त मुम्बई में हुआ। इन्होंने राज कपूर के साथ बहुत काम किया। शैलेन्द्र हिन्दी फिल्मों के साथ-साथ भोजपुरी फिल्मों के भी एक प्रमुख गीतकार थे।

इचक दाना बीचक दाना दाने ऊपर दाना: शैलेन्द्र

इचक दाना बीचक दाना दाने ऊपर दाना - शैलेन्द्र

इचक दाना बीचक दाना दाने ऊपर दाना, इचक दाना… छज्जे ऊपर लड़की नाचे लड़का है दीवाना, इचक दाना… बोलो क्या? प्रनाम, इचक दाना बीचक दाना दाने ऊपर दाना इचक दाना छोटी सी छोकरी लालबाई नाम है… पहने वोह घाघरा एक पैसा दाम है… मुह मे सबके आग लगाए आता है रुलाना, इचक दाना… बोलो क्या? मिच्री!!, इचक दाना बीचक दाना …

Read More »

नन्हे मुन्ने बच्चे तेरी मुट्ठी में क्या है: शैलेन्द्र

नन्हे मुन्ने बच्चे तेरी मुट्ठी में क्या है – शैलेन्द्र

र: (नन्हे मुन्ने बच्चे तेरी मुट्ठी में क्या है) –२ आ: मुट्ठी में है तक़दीर हमारी को: मुट्ठी में है तक़दीर हमारी आ: हम ने क़िस्मत को बस में किया है को: हम ने क़िस्मत को बस में किया है र: (भोली भली मतवाली आँखों में क्या है) –२ आ: आँखोन में झूमे उम्मीदों की दिवाली को: आँखोन में झूमें उम्मीदों की …

Read More »

चक्के में चक्का, चक्के पे गाड़ी: शैलेन्द्र

चक्के में चक्का, चक्के पे गाड़ी - शैलेन्द्र

चक्के में चक्का, चक्के पे गाड़ी गाड़ी में निकली, अपनी सवारी थोड़े अगाड़ी, थोड़े पिछाड़ी चुन्नू छबीले, मुन्नू हठीले मखमल की टोपी, छोटू रंगीले लल्लू बटाटा, लल्ली टमाटा कामा बनेंगे गट्टू गठीले पेट में इनकी लम्बी सी दाढ़ी चक्के में चक्का… उमर में कच्चे, ये छोटे बच्चे हैं भोले भाले, हैं सीधे सच्चे ठानेंगे जो भी कर के रहेंगे ये …

Read More »

भैया मेरे राखी के बंधन को निभाना: शैलेन्द्र

Shailendra's Rakhi Festival Bollywood Song भैया मेरे राखी के बंधन

भैया मेरे, राखी के बंधन को निभाना भैया मेरे, छोटी बहन को ना भुलाना देखो ये नाता निभाना भैया मेरे राखी…ये दिन ये त्यौहार खुशी का, पावन जैसे नीर नदी का भाई के उजले माथे पे, बहन लगाए मंगल टीका झूमे ये सावन सुहाना भैया मेरे राखी के बंधन…बाँध के हमने रेशम डोरी, तुमसे वो उम्मीद है जोड़ी नाज़ुक है जो …

Read More »

बम बम भोला हो शिवजी बिहाने चले – शैलेन्द्र

बम बम भोला बम बम भोला बम बम भोला बम बम भोला हो शिवजी बिहने चले पालकी सजायके भभूति लगाए के ला ओ शिवजी बिहाने चले पालकी सज़ायक़े भभूति लगाए के पालकी सज़यक़े ला ओ जब शिव बाबा करे तैयारी कैके सकल समान हो दाहिने अंग त्रिशूल विराजे नाचे भूत शैतान हो ब्रह्मा चले विष्णु चले लाई के वेद पुराण …

Read More »