Rashifal

वार्षिक राशिफल 2021: सद्गुरु स्वामी आनंदजी

जानिए आपके लिए कैसा रहेगा साल 2021

वार्षिक राशिफल 2021 आप भी जानना चाह रहे होंगे। यहां हम आपको सद्गुरु स्वामी आनंदजी की गणना के अनुसार बता रहे हैं कि आपके लिए साल 2021 कैसा रहेगा। इस वर्ष अप्रैल में गुरु कुंभ राशि में आएंगे और फिर सितंबर में वापस मकर में पहुंचेंगे। राहु 2021 में वृष राशि में और केतु वृश्चिक में संचार करेंगे। शनि महाराज का संचार संपूर्ण वर्ष मकर राशि में होगा। सूर्य, मंगल, बुध, शुक्र की स्थिति भी समय-समय पर बदलती रहेगी। इन स्थितियों में आपके लिए साल 2021 कैसा रहेगा आइए देखें पूरे साल का राशिफल…

मेष (Aries) राशि वार्षिक राशिफल

आर्थिक मामलों में प्रगति होगी

2021 के आरंभ में मेष का स्वामी मंगल मेष संचार करेगा। ऐसे में साल का आरंभ इस राशि के लोगों के लिए सुखद और सफलता दायक रहेगा, आप अपने प्रयास में सफल होंगे। शनि पूरे साल मकर राशि में ही भ्रमण करेंगे जिससे आपके अंदर कई विषयों को जानने और आगे बढ़ने का उमंग रहेगा। कई बार आप आगे बढ़ने और मकसद को हासिल करने लिए अपनी सीमा का भी उल्लंघन करेंगे। संबंधों को लेकर आपको थोड़ा संयम रखना होगा और समझदारी से काम लेना होगा। जहां तक आर्थिक मामलों की बात है तो इस साल के आरंभ में कमाई के साथ ही आपके खर्चे भी बने रहेंगे जिससे बचत की स्थिति कमजोर रहेगी। अप्रैल में गुरु की स्थिति बदलने से धन की स्थिति सुधरेगी और आर्थिक मामलों में आप राहत महसूस करेंगे। जो लोग घर या जमीन खरीदने के लिए प्रयासरत हैं उनकी चाहत पूरी हो सकती है। करियर के मामले यह वर्ष कई लोगों के लिए उत्साह वर्धक रहेगा।

वृषभ (Taurus) राशि वार्षिक राशिफल

सितंबर तक आपको कार्यक्षेत्र में अधिक ध्यान रखना होगा

वृष राशि वालों के लिए साल 2021 उतार-चढाव भरा रहेगा। मन में कई तरह के विचार आकर आपको उलझाते रहेंगे, आपको उलझनों से निकलकर अपनी चाहतों और लक्ष्य पर ध्यान लगाना चाहिए। कुछ नई योजनाओं पर काम करेंगे जिसमें आपका धन भी खर्च होगा। वैसे इस साल आर्थिक मामलों में आपके लिए साल काफी खर्चीला रहेगा। लेकिन मकर राशि में चल रहा गुरु अप्रैल तक विभिन्न स्रोतों से आर्थिक लाभ दिलवाएगा। 5 अप्रैल से गुरु का संचार कुंभ राशि में होगा ऐसे में आपको क्रोध पर काबू और संयम रखना होगा नहीं तो कार्यक्षेत्र में अधिकारियों से तनाव हो सकता है। ऐसे में सितंबर तक आपको कार्यक्षेत्र में अधिक ध्यान रखना होगा। 16 सितंबर के बाद गुरु जब वक्री होकर वापस मकर में आएंगे तब आर्थिक मामलों में आपका पक्ष सबल होगा। नौकरी कारोबार में प्रगति होगी। चल और अचल संपत्ति की प्राप्ति भी इस समय आपको हो सकती है। जीवनसाथी की सेहत के मामले में साल कुछ परेशान कर सकता है। घर में कोई धार्मिक और मांगलिक कार्य संपन्न हो सकता है।

मिथुन (Gemini) राशि 2021

विरोधी खुद ही मुंह की खाएंगे

इस साल मिथुन राशि वालों पर ढैय्या पर प्रभाव रहेगा लेकिन भाग्य का साथ समय-समय पर मिलता रहेगा। साल के आरंभ में इस राशि के स्वामी बुध सूर्य के साथ गुरु की राशि धनु में संचार कर रहे हैं जिससे मन में सफलता और कहीं से अवर मिलने की उम्मीद संजो रहे हैं। इस साल भी मिथुन राशि का खर्च आसमान छूता रहेगा, एक के बाद एक खर्च का योग बनता रहेगा ऐसे में बचत को लेकर सोचना बंद कर दें नहीं तो मानसिक कष्ट होगा। पारिवारिक जीवन में उलझन की स्थिति रहेगी। इस साल की अच्छी बात यह रहेगी कि विरोधी खुद ही मुंह की खाएंगे और आपका परचम लहराता रहेगा। राहु केतु की चाल से इस साल आपको कोर्ट कचहरी के मामले मे सफलता प्राप्त होगी। अप्रैल से गुरु जब कुंभ में आएंगे तो यह आपके लिए शुभ संदेश भी लाएंगे। गुरु के शुभ प्रभाव से घर में खुशी और आनंद का वातावरण रहेगा, आर्थिक मामलों में भी प्रगति होगी। लेकिन सितंबर के बाद से साल के अंत तक फिर से आपको आर्थिक मामलों में संभलकर चलना होगा। इस समय आपका बजट बिगड़ सकता है। आपके लिए सलाह है कि सितंबर से प्रतिद्वंद्वियों से सतर्क रहें। कुछ लोगों को वाहन का सुख मिल सकता है। सलाह है कि वाणी पर नियंत्रण रखें और बोलते समय शब्दों का ध्यान रखें।

कर्क (Cancer) राशि 2021

कार्यक्षेत्र में आपका सम्मान और प्रभाव बढ़ेगा

चंद्रमा की इस राशि के लोगों के लिए साल कुल मिलकर शुभ और लाभकारी रहने वाला है। आपके जीवन में कई तरह की खुशियां आंएगी। जिन लोगों को संतान की चाहत है उनकी यह चाहत भी इस साल पूरी हो सकती है। सामाजिक क्षेत्र में आपकी प्रतिष्ठा बढ़ेगी, कार्यक्षेत्र में भी आपका सम्मान और प्रभाव बढ़ेगा। कोई अटका और अधूरा काम आपका बनेगा। वैसे आपको अपने खान-पान और स्वास्थ्य के मामले में अपना विशेष ध्यान रखना होगा नहीं तो उदर रोग और वायु विकार की शिकायत हो सकती है। पारिवारिक जीवन में आपको थोड़ी परेशानी हो सकती है, जीवनसाथी के साथ इस साल आपको तालमेल बनाकर चलना होगा। सितंबर अक्टूबर में भाइयों से अच्छा सहयोग रहेगा, इनसे लाभ भी मिलेगा लेकिन सेहत को लेकर आप कुछ परेशान रहेंगे। संतान पक्ष की चिंता इस समय कुछ कम होगी। मित्रों से भी सहयोग पाएंगे।

सिंह (Leo) राशि 2021

गुरु दिलाएगे अप्रैल के बाद आनंद

सिंह राशि का स्वामी सूर्य मित्र बुध के साथ गुरु की राशि धनु में दरबार लगाएंगे और आपका इल्म और हुनर बढ़ाएंगे। ताम्र चरण का छठा शनि मानसिक तनाव देगा लेकिन आर्थिक लाभ भी दिलाएगा। हौसलों को नई उड़ान और करियर को नया आसमान मिलेगा यानी तरक्की पाएंगे। लौह पाद का दशम राहु और चतुर्थ केतु तमाम अड़चनों के बाद भी आपकी आंतरिक शक्ति का विकास करेंगे। तांबे के पाए का छठवां गुरु शरीर के नीचले हिस्से में कष्ट देंगे। 5 अप्रैल को गुरु कुंभ में आएंगे जिससे आनंद की वृद्धि होगी। तांबे के पैरों का सप्तम गुरु प्रतिष्ठा दिलाएंगे। वाहन से कष्ट मिलेगा। जुलाई का महीना आपके लिए राहत भरा होगा, परेशानियों में कमी आएगी और मानसिक शांति मिलेगी। दिसंबर में आपको संभलकर चलना होगा विरोधी आपकी छोटी सी भूल का भी फायदा उठाकर परेशान कर सकते हैं।

कन्या (Virgo) राशि 2021

गलत फैसलों से होगा आर्थिक नुकसान

साल 2021 के आग़ाज पर कन्या राशि के स्वामी बुध धनु में सूर्य के साथ मुसकुराएंगे और इस राशि के लोगों के लिए ढेरों सौगात लाएंगे। सही निर्णय से किस्मत की बाजी पलटेगी। तांबे के पाए का पांचवा शनि तनाव देगा और स्वास्थ्य को प्रभावित करेगा। राहु वृष व केतु वृश्चिक में गतिशील हैं। ताम्र चरण का नवम राहु और तृतीय केतु गलत फैसलों से आर्थिक नुकसान करवाएगा लेकिन किसी बुजुर्ग की सहायता से फायदा भी दिलवाएगा। साल की पहली तिमाही में गुरु का संचार मकर में रहेगा जो आपके लिए शुभ फलदायी है, आप कोर्ट कचहरी के मामले में सफलता पाएंगे। आत्मिक संतुष्टि मिलेगी। कारोबार के मामले में भी यह समय लाभप्रद रहेगा। लेकिन 5 अप्रैल से सितंबर तक गुरु कुंभ में रहकर आपको परेशान करेंगे, इस समय आर्थिक मामलों और करियर में तनाव का सामना करना पड़ सकता है। लेकिन अगर आप समझदारी और सोच-विचार के साथ चलेंगे तो गुरु आपकी प्रतिष्ठा को बढाएंगे और लाभ भी दिलाएंगे। आपके लिए सलाह है कि वाणी में मिठास रखें नहीं तो विभिन्न क्षेत्रों में परेशानी हो सकती है।

तुला (Libra) राशि 2021

अप्रैल से सितंबर का समय रहेगा सुखद: तुला राशि वार्षिक राशिफल

साल 2021 के तुला राशि के स्वामी शुक्रदेव वृश्चिक में संचार करते हुए आपके जीवन में सुखों की वृद्धि कर रहे हैं प्रतिष्ठा में भी वद्धि करेंगे। इस साल भी आप ढ़ैया के प्रभाव में रहेंगे जिससे सफलता के लिए आपको काफी परिश्रम करना होगा, मानसिक तनाव भी बना रहेगा। चांदी के पाए का चौथा शनि आलोचनाओं से मूड खराब करेगा, अपने भी कई बार बेगानों से व्यवहार करेंगे। राहु वृष व केतु धनु में रहेंगे। सदगुरुश्री कहते हैं कि स्वर्ण पाद का अष्टम राहु और द्वितीय केतु स्वास्थ्य प्रभावित कर आपको कष्ट देंगे। धीरज रखने वालों को सुख का तोहफा भी मिलेगा। बृहस्पति मकर में साधना कर रहे हैं। सोने के पाए का चौथा गुरु संपत्ति से तनाव प्रदान करता है। 5 अप्रैल को गुरु कुंभ में जाएंगे और आपके जीवन में आनंद की वृद्धि करेंगे। स्वर्ण पाद का पंचम गुरु सुख, शांति और समृद्धि देता है। अतएव, आने वाला साल में अप्रैल के बाद आप सितंबर तक सुख और आनंद का उत्सव भी मना सकते हैं। घर परिवार में कोई मांगलिक काम हो सकता है। 16 सितंबर को वक्री गुरु मकर में जाएंगे और फिर से बेचैन करेंगे ऐसे में धैर्य से काम लें। कुल मिलाकर यह वर्ष आपके लिए धूप छांव सा रहेगा।

वृश्चिक (Scorpio) वार्षिक राशिफल

साल का आरंभ रहेगा लाभप्रद

साल 2021 के आरंभ में राशि स्वामी मंगल अपनी ही राशि मेष में विराज कर कामयाबी का योग बना रहे हैं। आपके अंदर साहस उत्साह और काम करने की क्षमता बढ़ेगी जिससे तरक्की का अवसर मिलेगा। शनि के प्रभाव से करियर में प्रगति होगी। राहु वृष व केतु वृश्चिक में चलते हुए सरकारी क्षेत्र में बनता काम बिगाड़ सकते हैं कानूनी मामलों में परेशानी होगी। साल की अंतिम तिमाही में आपको सेहत का अधिक ध्यान रखना होगा। अप्रैल से सितंबर के बीच खर्च के योग बनते रहने से आर्थिक मामलों में आपकी चिंता बनी रह सकती है। मान-सम्मान का ध्यान रखते हुए आपको काम करना चाहिए। कोई कड़वा सबक़ जीवन की दशा तो नही पर दिशा जरूर बदलेगा। जनवरी में चहुंओर से लाभ होगा। आपके लिए सलाह है कि मन के किसी के लिए जलन की भावना ना रखें नहीं को प्रतिष्ठा की हानि होगी।

धनु (Sagittarius) वार्षिक राशिफल

शनि रहेगे इस साल आप पर मेहरबान

साल 2021 के आरंभ में धनु राशि के स्वामी और ज्ञान के देवता बृहस्पति मकर में गतिशील होंगे। सदगुरुश्री कहते हैं कि स्वर्ण पाद का दूसरा गुरु आर्थिक लाभ करवाएगा। लेकिन अप्रैल में जब गुरु कुंभ में आएंगे तो सेहत और धन के मामले में आपकी परेशानी बढ़ेगी। जीवनसाथी से तालमेल में कमी परिलक्षित होगी। आप इस साल साढ़ेसाती के अंतिम हिस्से को भोग रहे हैं। लौह पाद का दूसरा शनि आरंभ में धन का नुकसान और तनाव देता है लेकिन जाते-जाते खुशियों से झोली भर देता है, ऐसे में शनि आप पर मेहरबान रहेंगे। राहु वृष व केतु वृश्चिक में गतिशील हैं। विधाता का संकेत है कि लौह चरण का षष्ठ राहु और द्वादश केतु जीवन के पन्ने पर नई रोशनी उगाएगा और इससे भविष्य मुस्कुराएगा। आंतरिक बल और लगन से अटके हुए काम बनेंगे। कोई बढ़िया समाचार आपको आनंदित करेगा। किसी सुप्त कला का विकास होगा। विरोधी सम्मान में इजाफा करेंगे पर अपने लोग ही परेशान करेंगे। किसी अपने के अनावश्यक उलटे वचनों से मानसिक कष्ट होगा। बहस से बचें अन्यथा तिल का ताड़ बनेगा। उधार दिए धन की वापसी का वादा बार-बार कांच की तरह छन्न से टूट जाएगा। किसी सहयोगी के यू-टर्न से परिस्थितियों में उलझाव होगा।

मकर (Capricorn) वार्षिक राशिफल

सुख और समृद्धि में होगी वृद्धि

नए साल के आरंभ में मकर राशि वालों के जीवन में उजाला रोप जाएगा। इस राशि के मालिक शनि मकर में ही गतिशील हैं। फलस्वरूप इस राशि के लोग शनि की साढ़ेसाती के दूसरे चरण में हैं। स्वर्ण पाद का पहला शनि काबिलियत और हुनर से कमाल करेगा। साथ ही शारीरिक सुख पर सवालिया निशान लगा देगा। राहु वृष व केतु वृश्चिक में होंगे। विधाता का संकेत है कि ताम्र पाद का पंचम राहु और एकादश केतु गुनगुनाएंगे और जीवन के पर्दे पर सुख और समृद्धि की नई तस्वीरें बनाएंगे। जेब में तपिश मानसिक ठंडक देगी। बृहस्पति मकर में मंत्र जाप कर रहे हैं। ताम्र पाद का पहला गुरु सम्मान पर बट्टा लगाएगा। 5 अप्रैल को गुरु कुंभ में पधारेंगे, हसरतों से निहारेंगे। संपत्ति का आनंद मिलेगा। ताम्र पाद द्वितीय गुरु कारोबार को नया आयाम और ऊंचा मुकाम देगा। 16 सितंबर को जब वक्री गुरु मकर में जाएंगे, मन दुखाएंगे। स्वर्णपाद का पहला गुरु पैसा गलाता है और अंतर्मन को चोट पहुंचाता है। भौतिक आकांक्षाएं और कामेच्छा दुर्बल होगी। दिसंबर में आप स्वयं को किसी झमेले की चक्की में फंसा पा सकते हैं। संभाषण के दरमियान शब्दों के चयन में सतर्क रहें और संप्रेषण से पहले हर शब्द को अपनी कसौटी पर तौल लें।

कुंभ (Aquarius) राशि वार्षिक राशिफल

मन विचलित लेकिन होगा धन का लाभ

नववर्ष के आगाज पर कुंभ राशि के स्वामी मकर राशि में चक्रमण कर रहे हैं। लिहाजा इस राशि के लोग साढ़ेसाती के प्रथम चरण के अधीन है। तांबे के पाए का बारहवां शनि जेब में ठंडक और दिमाग में गर्मी देगा और ऋण में वृद्धि करेगा। अंतर्मन पानी भरी नाव सा बोझल रहेगा। लेकिन आशीर्वाद व परोपकार से लाभ होगा। वक्त का पहिया करियर को झमेलों के दलदल से निकाल कर मंजिल पर ले जाएगा। नई चुनौतियां प्रस्तुत कर साम-दाम-दंड-भेद सिखाएगा और कालांतर में तराश कर हीरा बनाएगा। राहु वृष और केतु वृश्चिक में हैं, शुभ कर्म में रुचि होगी। रजत पाद का चौथा राहु और दसवां केतु गैरों से करम और अपनों से सितम देगा और मनोबल बढ़ेगा। बृहस्पति मकर राशि के मकड़जाल में छटपटा रहे हैं और खर्च बढ़ा रहे हैं। रजत पाद का द्वादश गुरु नेत्र पैरों और पीठ में कष्ट देगा। जब 5 अप्रैल को गुरु कुंभ में जाएगा, तब डराएगा। रजत पाद का पहला गुरु मन विचलित करेगा पर संपत्ति से लाभ भी देगा। 16 सितंबर को गुरु उलटी चाल से मकर में आएंगे तो बैंक बैलंस घटाएंगे। रजत पाद का द्वादश गुरु देह के पृष्ठ भाग में महबूब की बेवफाई से ज़्यादा दर्द देगा। भौतिक समृद्धि तो रहेगी पर सुख आंतरिक अनुभूतियों से ही मिलेगा। तंत्र-मंत्र में रुचि प्रकट होगी।

मीन (Pisces) राशि वार्षिक राशिफल

बढ़ता व्यय बेचैन करेगा: मीन राशि वार्षिक राशिफल

वर्षारंभ पर बृहस्पति मकर राशि में ध्यान लगाएंगे और मीन राशि के लोग मुसकुराएंगे। लौह पाद का एकादश गुरु जेब को ऊष्मा प्रदान करेगा। 5 अप्रैल को जब बृहस्पति कुंभ में जाएंगे, हीरे की तरह तराशेंगे और चमकाएंगे। लौह चरण का द्वादश गुरु करियर में हानि और क्लेश का बीजारोपण करेगा। 16 सितंबर गुरु अपनी टेढ़ी चाल से मकर में जाएंगे और सताएंगे। लौह पाद का एकादश गुरु तनाव दोगुना देगा और लाभ उम्मीद से आधा। शनि, मकर में हैं। रजतपाद का एकादश शनि करियर में लाभ कराएगा, प्रतिष्ठा दिलाएगा। रुके काम बनने से खुशी होगी। विदेश से अच्छी खबर आएगी। राहु वृष व केतु वृश्चिक में रह कर सफलता का सूत्रपात करेंगे और आनंद की वजह बनेंगे। विधाता का संकेत है कि स्वर्ण पाद का तीसरा राहु और नवां केतु जीवन में फूल खिलाएगा और नई उम्मीद जगाएगा। वक्त ठंडी हवा की बयार सा आ रहा है और आपके लिए नवीन संभावनाओं व उम्मीदों का जखीरा ला रहा है। करियर में प्रतिष्ठा नए सोपान चढ़ेगी। बौद्धिक क्षमता की धार बढ़ेगी। मान-सम्मान को पंख लगेंगे। घर के बाहर पूछ बढ़ेगी। आभामंडल का विस्तार होगा। बढ़ता व्यय बेचैन करेगा। रिश्तों पर भी फर्क पड़ेगा। आपकी काबिलियत सबको नजर आएगी। कामेच्छा के घोड़ों पर काबू पाना होगा। अनावश्यक झुंझलाहट डंक मारेगी। किसी मामूली विवाद से ह्रदय को ठेस लगेगी। जनवरी में मन उदास न रहेगा। परदेस से कोई बढ़िया समाचार हौसले की चादर में बेल-बूटे गढ़ेगा।

Check Also

वार्षिक आर्थिक राशिफल – Annual Financial Predictions

मासिक आर्थिक राशिफल मार्च 2021: नंदिता पाण्डेय

मासिक आर्थिक राशिफल मार्च 2021: नंदिता पांडेय – Monthly Financial Predictions मासिक आर्थिक राशिफल मार्च …