मल संग्रहालय Shit Museum

मल संग्रहालय Shit Museum

इटली के ‘शिट म्यूजियम‘ (मल संग्रहालय) का नाम भले ही लोगों को बुरा लगे परंतु वहां कई अनूठी चीजें प्रदर्शित हैं। कैसलबोस्को के किसानों द्वारा गाय के गोबर से बनाई गई थालियां तथा अन्य प्रकार के बर्तन आदि भी इनमें शामिल हैं।

गोबर निपटान के हल के लिए सोचा नायाब तरीका मिलान से दक्षिण की ओर कुछ सौ किलोमीटर दूर एक विशाल फार्म होता था। उसके मालिक किसान के पास कई सौ गाय थीं परंतु इनकी वजह से वहां बड़ी मात्रा में गोबर की समस्या का सामना भी उसे करना पड़ रहा था। उसने सोचा कि क्यों न इस गोबर का सदुपयोग करते हुए इनसे कुछ बनाया जाए।

एक इतालवी फार्म-कम-म्यूजियम में गाय के गोबर से बने बर्तनों को प्रदर्शित करके यह दिखने का प्रयास किया जा रहा है कि कुछ भी व्यर्थ नहीं होता।

गियानएंतोनियों लोकोतेल्ली नामक 61 वर्षीय इस किसान के अनुसार गोबर का पर्यावरण हितैषी ढंग से कुछ इस्तेमाल करने का विचार था। उसके फार्म पर 3500 मवेशी प्रतिदिन 55 टन दूध देती हैं जिससे एक विशेष तरह का पनीर ‘ग्राना पदनो’ बनाया जाता है।

परंतु समस्या थी कि इतने मवेशियों से बड़ी मात्रा में गोबर भी जमा हो जाता था। इस समस्या के हल के लिए ही गियानएंतोनियों ने एक हल तलाश किया ताकि इस गोबर को भी काम में लाया जा सके।

बिजली उत्पादन से लेकर बर्तन बनाए गोबर को स्टूल डाईजैस्टरों में जमा किया जाता है जिनमें बैक्टीरिया हर जैविक पदार्थ को मिथेन में बदल देते हैं। मिथेन को जला कर बिजली पैदा की जाती है। रोज के गोबर से प्रति लगभग 3 मेगावाट बिजली का उत्पादन होता है जिससे 3 से 4
गोबर के बर्तन बनाने के लिए एक विशेष विधि का प्रयोग किया जाता है। हजार बाशिंदों वाले गावं को रोशन रखा जा सकता है।

इंजनों को ठंडा रखने के लिए इस्तेमाल होने वाला पानी 100 डिग्री तक गर्म हो जाता है। इस गर्म पानी का प्रयोग खेतों, अस्तबलों तथा डाइजैस्टर्स को गर्म करने के लिए किया जाता है।

इन सबमें गोबर का सबसे अनूठा प्रयोग इनसे बनाई गई ‘टेबलवेयर’ यानी बर्तन हैं। इन्हें ‘मेरडाकोटा’ नाम दिया गया है जिसका शाब्दिक अर्थ ‘पका हुआ मल’ है। दरअसल, मिट्टी से तैयार होने वाले बर्तनों के नाम ‘टैराकोटा’ के आधार पर ही इसे यह दिलचस्प-सा नाम दिया गया है। इसे टसकल मिट्टी के साथ गाय के गोबर को मिला कर बनाया जाता है। इसे बनाने के लिए गियानएंतोनियों एक खास विधि का इस्तेमाल करते हैं जिसे वह फिलहाल राज रखना चाहते हैं। जानवरों के मल को ऐसी उपयोगी और सुंदर चीजॉ में तबदील करने के अनूठे व सफल प्रयास के लिए मेरडाकोटा संग्रह को गत वर्ष मिलान के डिजाइन उत्सव में पुरस्कृत भी किया गया था।

Shit Museum is a museum on a dairy farm in northern Italy
Shit Museum is a museum on a dairy farm in northern Italy

‘शिट म्यूजियम’ को 2005 में गियानएंतोनियों के एक फार्म पर खोला गया। यहां पर गोबर से बनी विभिंन चीजें प्रदर्शित हैं जिनमें ईंटें, टाइलें, गमले, प्लेट तथा जार आदि शामिल हैं।

Check Also

Sundan and Upasundan: Old Classic Indian Tale

Sundan and Upasundan: Old Classic Indian Tale

Sundan and Upasundan were two Asura Princes. They were brothers and looked almost alike. They …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *